महाराष्ट्र कोआपरेटिव बैंक के दो अधिकारी गबन के आरोप में गिरफ्तार

Publish Date:Sat, 01 Dec 2018 08:32 PM (IST)

मुंबई, प्रेट्र। महाराष्ट्र के रायगढ़ में निष्क्रिय हो चुके पेन अर्बन कोआपरेटिव बैंक के दो वरिष्ठ अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया है। दोनों अधिकारियों पर निजी लाभ के लिए 774 करोड़ रुपये का गबन करने का आरोप है।
बैंक के पूर्व चेयरमैन शिशिर धारकर और एक्सपर्ट डाइरेक्टर प्रेम कुमार शर्मा को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया। ईडी के अनुसार उन्हें मनी लांड्रिंग रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत गिरफ्तार किया गया है।
जांच एजेंसी ने एक बयान में कहा है कि दोनों मनी लांड्रिंग घोटाले के मुख्य साजिशकर्ता के साथ ही उससे लाभ उठाने वाले हैं। यह घोटाला 2001 और 2010 के बीच किया गया था। बैंक रिकार्ड में हेराफेरी कर विभिन्न शाखाओं में उन्होंने 685 जाली खाते खोले थे। निजी लाभ के लिए उन्होंने पैसे निकाले।
बैंक को बंद किए जाने तक कर्ज पर कुल घाटा 774 करोड़ रुपये था। इस पैसे से उन्होंने अचल संपत्ति खरीदी या दूसरे काम किए। कोष का इस्तेमाल करते हुए थर्ड पार्टी के नाम पर 100 एकड़ से ज्यादा जमीन खरीदी गई। इस जमीन की कीमत 22 करोड़ रुपये से ज्यादा है। ईडी ने जमीन जब्त कर ली है।

Posted By: Tanisk

Source: Jagran.com

Related posts

Leave a Comment