अगर मंदिर विरोधी नहीं है कांग्रेस तो सिब्बल ने क्यों कहा कि सुनवाई 2019 से पहले नहीं: सीएम योगी

कांग्रेस के कुशासन ने समाज को बांटा
कांग्रेस के प्रशासन ने देश के अंदर सर्वाधिक दिनों तक शासन किया लेकिन बदले में कांग्रेस ने क्या दिया। कांग्रेस के कुशासन ने उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश और उनसे बने तीन अन्य प्रदेश उत्तराखंड, झारखंड, छत्तीसगढ़ को बीमारु राज्य बना दिया था। कांग्रेस का विकास और सुशासन पर ध्यान नहीं था लेकिन उससे भी आगे चलकर कांग्रेस ने समाज को बांटा है।

1947 में देश के विभाजन का कारण कांग्रेस की सत्ता लिप्सा थी
योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि 1947 में देश के विभाजन का कारण कांग्रेस की सत्ता लिप्सा थी। उसके बाद कांग्रेस ने देश को जाति, क्षेत्र और भाषा के आधार पर देश को बांटने का काम किया। इस देश के वंचितों पिछड़ों और समाज के प्रत्येक तबके को उसका हक मिले, कांग्रेस के पास इसकी न कोई नीति थी और न कोई नेक नियति थी। योगी ने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस सत्रह चुनाव हार चुकी है। आने वाले 11 दिसंबर को जब पांच राज्यों के परिणाम आएंगे तो पांचों राज्यों में भाजपा सरकार बनाएगी।

Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath in Kota, Rajasthan: If Congress doesn’t oppose the construction of #RamTemple in Ayodhya, then in what capacity did Kapil Sibal say to the SC that the Ram Janmbhoomi case should not be heard until after 2019? pic.twitter.com/Ulpy2Br77f
— ANI (@ANI) December 1, 2018

कांग्रेस ने विकास किया तो पीएम मोदी को गरीबों के जनधन अकाउंट क्यों खोलने पड़े
योगी ने पूछा, कांग्रेस के जो नेता मंचों पर चढ़कर कह रहे हैं कि कांग्रेस ने विकास किया था तो इनसे पूछा जाना चाहिए कि मोदी जी को 32 करोड़ गरीबों के जनधन अकाउंट क्यों खोलने पड़े। सीएम योगी ने पूछा कि अगर कांग्रेस अयोध्या में भगवान राम के मंदिर का विरोधी नहीं होती तो फिर कपिल सिब्बल ने किस हैसियत से सुप्रीम कोर्ट में यह बात कही थी कि रामजन्मभूमि मुद्दे की सुनवाई 2019 से पहले नहीं होनी चाहिए।

Source: OneIndia Hindi

Related posts